सूचना
पदक एवं सम्मान



महाविद्यालय में अध्ययन के तीन वर्षों की अवधि में छात्राओं द्वारा अर्जित अकादमिक , सहशैक्षणिक उपलब्धि एवं उनकी कर्मनिष्ठा के आधार पर दो पदक– सर्वश्रेष्ठ छात्रा , सर्वश्रेष्ठ कार्यकर्त्री के पदक प्रदान किये जाते हैं| सर्वश्रेष्ठ छात्रा का चयन छात्रा की कक्षा में उपस्थिति, विश्वविद्यालय परीक्षा में अर्जित अंक , सहशैक्षणिक एवं खेलकूद आदि में दक्षता , सामान्य शालीनता एवं शिष्टाचार के आधार पर जबकि सर्वश्रेष्ठ कार्यकर्त्री का चयन महाविद्यालय की विभिन्न गतिविधियों में उनके सक्रिय सहयोग को ध्यान में रखते हुए पदक समिति की अनुशंसा के आधार पर किया जाता है | सत्र 2014-15 में सर्वश्रेष्ठ छात्रा का पदक सुश्री दिव्या प्रजापति ने प्राप्त किया|
  1. विश्वविद्यालय की प्रथम , द्वितीय एवं तृतीय वर्ष की परीक्षा में 10 प्रतिशत या अधिक अंको की वृद्धि अर्जित करने वाली दोनों संकायो की छात्राओ को महाविद्यालय पदक प्रदान किया जाता है | सत्र 2013-14 में 06 छात्राओं नें यह पदक अर्जित किया |
    राष्ट्रीय सेवा योजना : शिक्षार्जन की सार्थकता समाज एवं राष्ट्रहित की भावना के पल्लवन में ही निहित है | राष्ट्र एवं समाज के प्रति स्वदायित्व का भान कराना इस विद्या मन्दिर का वैशिष्ट्य है | इसी उद्देश्य से राष्ट्रीय सेवा योजना की एक इकाई का आरम्भ सत्र 1997-98 से किया गया था जबकि सत्र 2008-09 से राष्ट्रीय सेवा योजना की दूसरी इकाई भी प्रारम्भ हो गई है|
सत्र 2014 -15 मे विभिन्न पदक प्रदान किये गये
  1. श्रीमति कृष्णा सहगल स्मृति पदक :-स्तानक कक्षा में सर्वाधिक अंक लाने पर |
    द्वारा:-श्री बलवन्त कुमार आर्य
    छात्राऐ :- सुश्री खुशबू शिशोदिया, सुश्री दीपा कतनानी |
  2. हिंदी पदक :- हिंदी साहित्य विषय में सर्वाधिक अंक प्राप्त करने पर |
    द्वारा:-श्रीमती पुष्पा कुमारी
    छात्राऐ :- सुश्री खुशबू शिशोदिया, सुश्री ज्योती चाँवरिया ,सुश्री माया |
  3. भूगोल पदक :- भूगोल विषय में सर्वाधिक अंक प्राप्त करने पर |
    (स्व . श्री गिरधारीलालजी ठेकेदार स्मृति पदक )
    द्वारा:-श्री गिरीश कुमार बैरवा
    छात्राऐ :- सुश्री प्रीति रावत ,सुश्री प्रिया प्रजापति , सुश्री गीता कुमारी |
  4. संस्कृत पदक :- संस्कृत साहित्य विषय में सर्वाधिक अंक प्राप्त करने पर |
    द्वारा:-श्रीमती शिवकुमारी तिवाडी
    छात्राऐ :-सुश्री खुशबू शिशोदिया ,सुश्री ज्योती चाँवरिया ,सुश्री मोनिया माली |
  5. श्री गोदावरी आर्य कन्या शिक्षण समिति द्वारा कक्षा में प्रथम एवं द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाली छात्रा को क्रमशः 1000 व 500 रुपये का नकद पुरस्कार से सम्मानित किया जाता है जो वर्ष 2008-09 से निरन्तर जारी है |
  6. स्तानक स्तर पर तृतीय वर्ष कला एवं वाणिज्य में सर्वाधिक अंक प्राप्त करने वाली छात्रा को रजत पदक द्वारा श्री बलवन्त कुमार आर्य (सचिव , दयानन्द आर्य बालिका महाविद्यालय , ब्यावर)
  7. हिंदी पदक :- स्तानक स्तर पर प्रथम , द्वितीय एवं तृतीय वर्ष की परीक्षा में "हिंदी साहित्य" विषय में सर्वाधिक अंक लाने वाली छात्रा को श्रीमती पुष्पा कुमारी ( माताजी श्री राजेन्द्र कुमार–व्याख्याता हिंदी ) द्वारा हिंदी पदक |
  8. स्वर्ण पदक :- विश्वविद्यालय वरियता सूची में सर्वोच्च दस स्थानों में स्थान प्राप्त करने वाली छात्रा को स्वर्ण पदक |
    द्वारा :- श्री महेश मालू (सचिव , श्री गोदावरी आर्य कन्या शिक्षण समिति) |
Top
Developed By Webtechnovision